यदि तालिबान आमिर मर चुका है, तब उसके मोमीनीन का क्या होगा

यद्यपि अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई है, अमेरिकी अधिकारियों ने काफी विश्वास के साथ दावा किया है कि उन्हें पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में किए गए एक ड्रोन हमले में तालिबान के अमीर-उल-मोमीनीन (वफादारों का नेता) को मार गिराने में कामयाबी मिली है। यदि वास्तव में मुल्ला अख्तर मंसूर की मौत हो गई है तो इस गतिविधि के निहितार्थ बहुत महत्वपूर्ण हैं। तथ्यों से परे, यह पहली बार हुआ है कि ड्रोन ने जनजातीय क्षेत्रों की संकीर्ण दायरे में और किस अवसर पर, सीमांत क्षेत्र (खैबर पख्तूनख्वा और फाटा में स्थापित जिलों के बीच में सिथत क्षेत्र), के बाहर किसी लक्ष्य पर हमला किया है। इस घटना का प्रभाव अमेरिका और प

Unrelenting Abu Sayyaf Group Puts South East Asia on Edge

On 25 April Filipino extremist group Abu Sayyaf Group (ASG) executed a Canadian hostage after a, ransom deadline expired. The incident has understandably raised serious concerns for the safety of the other 21 captives still in captivity of the group.

Chabahar – The Gains for Afghanistan from Strategic Competition

The Indian quest for trade route to Iran and Afghanistan extending to Central Asia is about to be realised as the technical teams agreed after negotiations took place among countries in April, 2016 have been finalised.

India, Iran and Afghanistan finalized the provisions of trilateral transport and transit pact called Chabahar. The historical agreement was finally signed in the presence of Narendra Modi, Hassan Rouhani and Ashraf Ghani in Iran on May 23, 2016.

‘चीन की रोड एवं बेल्ट पहलः भारतीय दृष्टिकोण’

रेशम सड़क आर्थिक पट्टी तथा 21वीं सदी की सामुद्रिक रेशम सड़क की दो परियोजनाओं को मिलाने के लिए सितंबर 2013 में जिस ‘वन बेल्ट, वन रोड’ कार्यक्रम का प्रस्ताव दिया गया था, उसके जरिये चीन पूरी दुनिया का घेरा बनाना चाहता है। विश्व के 55 प्रतिशत सकल राष्ट्रीय उत्पाद (जीएनपी), 70 प्रतिशत जनसंख्या तथा 75 प्रतिशत ज्ञात ऊर्जा भंडारों को समेटने की क्षमता वाली यह योजना वास्तव में चीन द्वारा भूमि एवं समुद्री परिवहन मार्ग बनाने के लिए है, जो चीन के उत्पादन केंद्रों को दुनिया भर के बाजारों एवं प्राकृतिक संसाधन केंद्रों से जोड़ेंगे। साथ ही साथ इससे चीन की अभी तक सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था, श्रमशक्ति एवं बुनियादी ढांच

Two Years of The Modi Government’s Pakistan Policy - A Review

With the PM Modi-led government completing two years in office on May 25, 2016, this is a good time to examine how successful its Pakistan policy has been, the challenges it faces in dealing with Pakistan and the prospects of the bilateral relationship.

सैन्य मामलों में लंबित परिवर्तनः भारतीय सेना

इतिहास साक्षी है कि, उन्नत हो रही प्रौद्योगिकी और बदलती रणनीति ने युद्ध लड़ने के तरीके में क्रांति ला दी है। हालांकि, प्रौद्योगिकी ने जितनी तेजी से सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) एवं मीडिया के क्षेत्र में व्यापक रूप से अपनी पैठ बनाई है, पहले कभी भी प्रौद्योगिकी का व्यापक और प्रभावी रूप में इतना तीव्र विकास नहीं देखा गया। इनकी मदद से वैश्वीकरण के जरिये दुनिया आपस में करीब आई है और ये आर्थिक विकास के वाहक बन रहे हैं। इसने न केवल एक नया सुरक्षा प्रतिमान गढ़ा है, बल्कि युद्ध लड़ने के तरीकों में भी व्यापक बदलाव ला दिया है। आज, शक्ति के नए मानकों के रूप में सूचना एवं प्रौद्योगिकी ने युद्धक्षेत

The US about turn on F-16s for Pakistan: Is it for real?

The US Congress about turn on the supply of F-16 advanced fighter aircraft for Pakistan appears less to do with policy and more an action borne out of frustration; a temporary inconvenience for Pakistan. According to the deal, Pakistan would have paid $270 million and the remaining $ 430 million was to come from the US; the Congress has refused the US liability which could force Pakistan to pay the entire $700 million. Technically the aircraft sale hasn’t been blocked; it’s the free lunch’s that has gone, at least so far.

Untimely Political Turmoil in Iraq

Iraq is headed towards a political meltdown. This is because the governments which were formed after Saddam Hussein’s fall in 2003 failed to meet the expectations of the citizens, particularly the minorities.

The country today is torn apart by corruption and dysfunctions, alongside the decades-old problem of sectarianism, factionalism and armed conflict.

The Uyghur Issue: Why is the Chinese Government Worried?

The Xinjiang Uyghur Autonomous Region (XUAR) has been a sensitive region of China mainly due to the Uyghur issue and their clashes with the Central government. The article briefly delves into the history of the Uyghur’s and the reasons for their disenchantment with the Chinese government.

Who are Uyghurs?

Japan holds the G7 Summit - Focus on Indo Pacific

The Group of Seven (G7), an informal forum of the world’s leading industrialized countries--Canada, France, Germany, Italy, Japan, the United Kingdom and the United States--is also attended by representatives of the European Union. At the summit meetings the heads of government hold candid discussions on global challenges and have dealt effectively in the past with issues requiring any swift resolution.