तथ्यों के प्रकाश में कश्मीर घाटी की जनता के नाम एक खुला पत्र

आतंकी बुरहान की सुरक्षा बलों के द्वारा मौत के बाद एक बार फिर पाक सेना तथा आइएसआइ ने कश्मीर घाटी को हिंसा की आग में उसी प्रकार झोंकने का प्रयास किया है जिस प्रकार पाक समर्पित तालिबान ने अफगानिस्तान में किया था।

काबुल तो पाकिस्तान से दूर जाएगा ही

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने पाकिस्तान को आतंकियों का पनाहगार देश बताते हुए कहा है कि उसके साथ रिश्ते बनाए रखना अफगान हुकूमत के लिए बड़ी चुनौती बन गया है। गनी का यह बयान हकीकत पर आधारित है। हालांकि जब वह सत्ता में आए थे, तब पाकिस्तान का लेकर उनकी राय कुछ अलग थी। उस समय वह पाकिस्तान के साथ दोस्ती के पक्षधर थे। इसकी वजह भी थी।

तुर्की : पर्दे के पीछे सच क्या है?

जब तुर्की का तख्ता पलट का प्रयास, या कहिये की असफल प्रयास हुआ तो मैं अहमदाबाद में था। मुझे एक व्यापारिक समारोह में भारत की राष्ट्रिय सुरक्षा के बारे में बोलना था। किसी कारणवश मेरे मेजबानों ने मुझे पहले तुर्की के बारे में कुछ शब्द बोलने को कहा, क्योंकि ज्यादातर श्रोता ये समझ नहीं पा रहे थे कि आखिर उस देश में हो क्या रहा है।

Minimum Support Price for Agricultural Produce

Agriculture is a sensitive subject from both the political and the economic viewpoint. More than half the labour force is employed in this sector; a large majority of the population lives in rural India; a rise in disposable incomes among those associated

चीन का यादगार दिवस

स्थाई मध्यस्थता न्यायाधिकरण (पीसीए) ने फिलीपींस और चीन के बीच मध्यस्थता के मामले में अपना फैसला सुना दिया है। ‘‘पश्चिम फिलीपीन सागर में फिलीपींस के समुद्री अधिकार क्षेत्र में चीन के साथ विवाद’’ के मामले में फिलीपींस ने 2013

Brexit And End of Globalisation

When Britain voted to leave the European Union ( called British Exit or Brexit) the Dutch Prime minister Mark Rutte said “England has collapsed politically, constitutionally and economically.”

रणनीतिक धैर्य से सुलझ सकती है चीन समस्या

चीन हमेशा से भारत के लिए समस्या रहा है। ऐसा इसीलिए भी है क्योंकि चीनी स्वयं तो अबूझ हैं और दिए जा रहे संदेश या संकेत को बूझने की कोशिश में उनके वार्ताकारों को अक्सर घंटों लग सकते हैं। लेकिन ऐसा इसलिए भी है क्योंकि एक दूसरे के साथ किसी भी तरह का बुनियादी या सभ्यतागत विवाद नहीं होने के बावजूद भारत और चीन कभी सामरिक मेल-मिलाप नहीं कर पाए हैं।

What’s the Real Story in Turkey?

I was in Ahmedabad when the attempted or rather failed ‘coup de tat’ took place in Turkey. I was to speak at a corporate function about India’s national security. However, my hosts requested me to first specifically speak for a few minutes on Turkey because ostensibly most of the audience could not join the dots about what exactly was happening in that country. I readily obliged because that’s a country you can’t fail to know if you have any pretensions like me of being a strategic commentator.

India and SCO: Tashkent Summit and Beyond

India came one step closer to becoming a full-fledged member of the Shanghai Cooperation Organization (SCO), at the summit held last month. Some of the required procedures were yet to be completed. For instance, there are about 28 documents which have to be signed by India.

बुरहान वानी की मौत और उसके नतीजे

दक्षिण कश्मीर के बिल्कुल दक्षिणी हिस्से में कोकरनाग अलसाया, शांत, छोटा सा शहर है। पीर पंजाल की ऊंची पहाड़ियों के साये तले बसा और निचली पहाड़ियों पर जंगलों से घिरा यह शहर किसी वक्त आतंकवाद का अड्डा था क्योंकि यह क्षेत्र आतंकवाद के लिए मुफीद था। सहस्राब्दी के पहले दस वर्षों में भारतीय सेना की मशहूर इकाई 36 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर) (गढ़वाल राइफल्स) ने पूरा इलाका साफ कर दिया और आतंकवाद के मामूली निशान ही बाकी रह गए। इस कारनामे के लिए उसे चार सीओएएस यूनिट साइटेशन और कई अन्य पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।